चूत चुदाई की कहानी सुनाओ

বিপি পিকচার সেক্সি

বিপি পিকচার সেক্সি, माँ ने भी अपनी गंभीरता भरी सोच को तोड़ा और फिर नॉर्मल होते हुए हँसी मज़ाक करने लगी अपनी बहन से हां रे ताहिरा तेरे घर में बहुत खूबसूरत बेटा आया है मुझे ये तू दे दे मैं इसको अपने आदम के साथ रखूँगी.... गुरमीत ने लकी के लंड को मुट्ठी मे पकड़ने के बाद...एक बार लकी की आँखों मे देखा...फिर उसे लकी के लंड को दो तीन बार हिलाया...लकी के मुँह से आह निकल गयी..फिर गुरमीत ने लकी के लंड की चमड़ी को पीछे कर दिया...लकी के लंड का गुलाबी सुपडा गुरमीत की आँखों के सामने आ गया...

अब जयसिंह ने खाना खा लिया था, ऐसे भी वो अक्सर कम ही खाता था, सो वो उठकर किचन की तरफ हाथ धोने बढ़ा, पर इससे पहले की वो आगे बढ़े मनिका ने भी उठकर बोला कि उसका खाना हो गया है और वो तेज़ तेज़ कदमों से चलते हुए जयसिंह से पहले ही किचन में घुस गई, विक्रम: सर मैने पता लगाया है कि, सुमन का भाई अमित ड्रग्स लेने का आदि है…. और एक दो बार तो उसने ड्रग्स लेने के लिए पड़ोस के घर मे चोरी भी की है…पर मोहल्ले वालों ने उसे बीच बचाव करके छुड़वा दिया था….

दादी: मेने तो खा लिया तुझे तो पता है मुझसे सीडीया नही चढ़ि जाती इसीलिए मे तुम्हें उठाने नही आई मेने गेट लॉक कर दिया अब तू अपना और गुरमीत का खाना ऊपेर ही लेजा বিপি পিকচার সেক্সি गुरमीत: आइ आम सॉरी लकी ओह्ह मुझ इतना प्यार ना करो मुझ पता नही क्यों लगता है कि मैं ग़लत कर रही हूँ कहीं आगे चल कर तुम्हें समाज के बंधनों का सामना ना करना पड़े और वो भी मेरी वजह से लकी मैं पूरी की पूरी तुम्हारी हूँ

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ

  1. समीर : वाह बेटा परिवार से दूर क्या हुआ? कि अभी से प्राइवसी के लिए इतने जतन...कौन वहाँ आके तुझे चुदाई से तंग करता? साले सब समझता हूँ वहाँ जाके तेरी नियत खराब हो गयी अब ये बता किसके चक्कर में है वहाँ पे?
  2. दोपहर के वक़्त राज हवेली के बाहर गार्डेन मे बैठा हुआ था. सुमन भी उसी के पास बैठी थी. बार-2 उसकी नज़र गेट की तरफ जा रही थी. और राज न्यूसपेपर पढ़ने मे मसरूफ़ था. देशी सुहाग रात चुदाई
  3. पूनम का बदन एक दम से ढीला पड़ गया. और रवि भी 3-2 बार अपने लंड को अंदर बाहर करने के बाद उसकी चूत मे अपने वीर्य की बोछार करने लगा. दोनो निढाल होकर लेट गये. जब कुछ देर बाद पूनम की साँसें दुरस्त हुई. उसने जल्दी से अपने ऊपेर से रवि को हटाया. और अपने पैंटी और लोवर पहन कर बाहर की तरफ जाने लगी. आदम जैसे घबरा गया और एका एक शॉक्ड हो गया सुधिया काकी ने उसके बारे में सबकुछ तबस्सुम दीदी को बता दिया था उफ्फ क्या उसे पता है कि उसने अपनी सग़ी मौसी और भाभी के साथ भी चुदाई का खेल खेला है...लेकिन तबस्सुम को कोई बुरा नही लग रहा था पर वो बेहद शरमा रही थी और मुस्कुराती हुई सर झुकाए हुई थी
  4. বিপি পিকচার সেক্সি....और उसी सीन को याद करते हुए मनिका को ऐसा फील हुआ की इस वक़्त कनिका नही बल्कि उसके पापा उसकी चूत को चूस रहे हैं.. समीर : हाहाहा अब जितना हमसे छुपा लो तुम अपने राज़...उतना ही जानूँगा मैं वो सब तेरी बातें (माँ शरम से लाल हो गयी उसकी चोरी पकड़ी गयी )
  5. रूपाली : उस मदर्चोद का नाम मत लो कमीना पीके आता है और और मुरझाए लंड से 5-6 धक्के मारे बेदर्दी से लंड अंदर घुसाए झड जाता है ना मुझे मज़ा मिलता है और ना हम ठीक ढंग से एंजाय कर पाते है पता नही क्या देख लिया था उसमें? अंजुम : फिर भी बेटा है ना वो मेरा वैसे मुझे उस जगह से कोई दिक्कत नही है पर मुझे डर है कि कहीं अकेले में वो लड़कियो को घर में लेके ना आ जाए वहाँ की लड़किया पैसा एन्ठेन्गी और बीमारी दे जाएँगी कहीं कोठे पे ना जाने लगे नशा ना करने लगे

हरियाणवी एक्स एक्स एक्स

उसके चाचा ने उसे आगे बुलाया और फिर उसे मेरे साथ अंदर के कमरे में जाके बात करने को कहा..कि बेटा तुम कुछ बोलो और एकदुसरे से कुछ देर बात करो....माँ सोफे पे ही बैठी रह गयी उसने मुझे जैसे जाने की इच्छा जताई...मैं उसके साथ उठा..तो उसने हल्के से कहा आओ ना......बांग्ला में उसने कहा

आदम : सवाल ही नही उठता कोई है ही कहाँ उसका? जो लोग थे भी उसके पिता की मौत के बाद उन्हें मामली हालत ना देने से पीछे होके हट गये...वो दोनो तो अकेले है अर्रे तुझे पता है उसने मुझे भी इन्वाइट किया है पर वो जानता नही कि तुझे उसके बारे में ये सब पता है? रूपाली : अब कुछ नही बचा हमारा आदम मुझे लगा था कि मेरे सिवा तुम्हारी ज़िंदगी में कोई औरत नही है तुमने मेरे होते हुए मेरी सासू माँ अपनी मौसी जो माँ समान होती है उसे नही बख्शा धोका और फरेब देना तो कोई तुमसे सीखे (रूपाली रोने लगी)

বিপি পিকচার সেক্সি,आदम : हान्न्न मामा अहहह उहह उहगग (माँ ने मेरी पीठ और मैने माँ को कस कर पकड़ लिया हम एकदुसरे की पीठ को सहला रहे थे मैने इस बीच माँ के गले पीठ और चेहरे को चूमते हुए उसके चेहरे पे अपना चेहरा रगड़ा)

दोनों गर्म हो चुके थे, जयसिंह अपने लंड को हिलाते हुए अपनी बेटी की बुर पर रगड़ने लगा, बुर पर लंड का सुपाड़ा रगड़ खाते ही मनिका कामोत्तेजना में मदहोश होने लगी, वो लगातार सिसकारी लिए जा रही थी, उससे लंड के सुपाड़े की रगड़ अपनी बुर पर बर्दाश्त नहीं हो रही थी

निर्मला की चूत मे पहले से आग लगी हुई थी. वो तो बस राज के लंड को अपनी चूत मे जल्दी से जल्दी महसूस करने के लिए मचल रही थी. उसने भी अपनी गान्ड को थोड़ा सा ऊपेर उठा दिया. जिससे राज ने आसानी से निर्मला के पैंटी को निकाल कर एक तरफ फैंक दिया. और खुद के अंडरवेर को भी उतार दिया.भोजपुरी पॉर्न वीडियो

ओह्हहहहहह पापाआआआ.... चोद दो मुझे.....बुझा दो इस चुत की प्यास......ओहहहहहह यस ओहहहहहहह यस उम्ह्ह्ह्ह्ह पापाऽऽऽऽऽऽऽ…..पापाऽऽऽऽऽऽऽ…योर डिक पापा…स्स्स्स्स्स्साऽऽऽऽ सो बिग…. कहते हुए मनिका ने अपनी चूत के दाने को मसलते हुए अपने हाथ की एक उंगली को चूत में घुपप्प्प से घुसा दिया , गुरमीत: लकी जब से तुम मेरी जिंदगी मे आए हो मेरी दुनिया रंगीन हो गयी है पहले तो मेरी जिंदगी बेजान सी थी

आदम : माँ आंटी से कोई बात नही करने वाली वो सख़्त इनके खिलाफ है अगर उन्हें मालूम चला कि मैं यहाँ आया हूँ तो मुझपे भी बरस पड़ेगा

मुझे पता है पापा, पर क्या करूँ, मुझे तो गांव के नाम से भी परेशानी होती है, ऊपर से अब मुझे आप से दूर भी रहना पड़ेगा, इसलिए मुझे तकलीफ हो रही है मनिका हल्की रुआंसी होकर बोली,বিপি পিকচার সেক্সি क्या हुआ पापा, आप पीछे क्यों हैट गए, क्या मैं इतनी बुरी हूँ कि आप मुझे गले से भी नही लगा सकते मनिका ने कहा

News