क्सक्सक्स वोइडो

कांटे वाला कंडोम

कांटे वाला कंडोम, दीवाली की तो मुझे छुट्टी मिली नहीं पर उसके बाद शनिवार रविवार को आखिर हम ने जाने का फैसला कर लिया. एक दिन की छुट्टी मैंने और किसी तरह ले मारी. और इस तरह हम ससुराल में मेरी पहली ट्रिप के लिये पहुंचे. देखिए शिवानी जी मैं अपनी पत्नी का ईक्लोता पति हू.... और पिछले 15 दीनो से उससे नही मिला हू तो मुझे मेरी इज़्ज़त ख़तरे मे नज़र आ रही है... मैं एक पत्निवरता पति हू.. प्लज़्ज़्ज़्ज़

राधाबाई की बांछें खिल गयीं. हां मैं आऊंगी बेटा. लीना बिटिया को बोल कर रखती हूं कि दो माह बाद ही मेरा टिकट बना कर रखे. अब चलती हूं, घर जाकर तैयारी करना है, गांव की बस छूट जायेगी. वो तो दीदी तुमने मुझे चोदा था. मैंने तुमपर चढ़ कर कहां चोदा है पिछले दो दिनों में? ललित ने कहा तो लीना चिढ़ गयी

अजय- हाँ यार लास्ट टाइम जब तेरी मम्मी आई थी तब वह 15 दिन रुकी थी और 15 दिन तक मैं उसे तेरी मामी के साथ कांटे वाला कंडोम हे रामू तेरा लंड बहुत मोटा और लंबा है रे बहुत मज़ा आ रहा है ऐसे ही चोद तुझे तो औरतो को चोदने की अच्छी

బొమ్మల సెక్స్ వీడియోస్

  1. हूँ..!,ब्रिज कोठारी कब उसके पीछे आ खड़ा हुआ था उसे पता ही नही चला था,..क-कुच्छ नही.,वो ब्रश रख खड़ी हुई तो ब्रिज ने उसे बाहो मे भर लिया,..आज कितनी देर से लौटे तुम..उउम्म्म्म..!,ब्रिज का उसकी गर्दन चूमना उसे बहुत भला लग रहा था.
  2. मेसेज देख उसे लगा कि कार्ड ठीक सेस्लोट मे डाला नही.उसने दोबारा कोशिश की मगर फिर से वही बात हुई.उसने पर्स से दूसरा कार्ड निकाल के डाला मगर फिर वही बात.उसका माथा ठनका.उसने अपने दोनो क्रेडिट कार्ड्स डाल के देखा मगर हर बार वो नाकाम रही.वो अपनी कार मे बैठी & अपने बॅंक फोन मिलाया & सारी बात बताई. पपई खाण्याचे दुष्परिणाम
  3. धक्के नीचे की तरफ अपनी दीदी की मस्तानी गान्ड मे मारने लगता है, कुछ देर तक रामू अपने लंड के धक्के एक रफ़्तार से अपनी दीदी की फूली हुई चूत मे मारता रहता है लेकिन कुछ देर बाद वह अपनी बहन के उठे हुए पेडू को अपने हाथो मे हां,मगर हालात क्या थे मेरे आपको पता है?..,रंभा की आवाज़ मे गुस्सा था,..जब वो लापता था तब मैं उसके बाप के साथ सो रही थी क्यूकी उसके बाप ने शर्त रखी थी मेरे सामने की अगर मैं उसके साथ हुम्बिस्तर हुई तभी वो मुझे मेहरा खानदान का हिस्सा बना रहने देगा वरना बाहर कर देगा!
  4. कांटे वाला कंडोम...रामू- अरे तू नही जानती सब औरते सभी आदमियो का गन्ना बड़े प्यार से चाट-चाट कर चुस्ती है, ले तू भी इसे अपनी जीभ से चूस कर देख, उन्न्ञन्..मत जाइए ना!,बिजली चली गयी थी & देवेन उसकी चूत से लंड खींच उठने लगा था जब रंभा ने उसे रोक दिया था.
  5. रामू- हस्ते हुए, अरे घबराओ नही दीदी मे जो हू तुम्हारे साथ, और फिर रामू खेत से निकल कर निम्मो के पास आकर रामू चलते-चलते सोचने लगा, कही ऐसा तो नही कि हरिया काका उसके आने के बाद उसकी बेटी के साथ कुछ कर रहा हो और यह सोचते ही रामू का लंड फिर से खड़ा होने लगा था वह चुपचाप दबे पाँव गन्ने के पीछे से छुपता हुआ वहाँ तक आ गया जहाँ से उसे हरिया की खाट नज़र आने लगी थी, और उसने जब वहाँ देखा तो वह देखता ही रह गया,

सातवा वेतन आयोग शिफारशी

कामिनी- अरे रामू जब अपनी धोती से अपने लंड को निकाल कर मूत रहा था तब निम्मो तुम्हारे खेतो की झोपड़ी के पीछे

थोड़ी देर पहले.,रंभा ने जवाब दिया & अलमारी मे अपने कपड़े ठीक करती रही.कुच्छ देर तक समीर कुच्छ नही बोला पर फिर उस से ये खामोशी बर्दाश्त नही हुई. सर,मैने प्रिंट-आउट्स निकाल के सारे पेपर्स सीरियल मे लगा दिए हैं.,रंभा समीर के कहे मुताबिक ऑफीस अवर्स के बाद उसकी मानपुर वाले प्रॉजेक्ट पे मदद करने लगी थी.

कांटे वाला कंडोम,ज्योति की बातों का मतलब मैं समझ गया था और मेरे होठों पे भी मुस्कान आ गई- घबराइए नहीं ज्योति जी… हम किसी को भी जबरदस्ती नहीं जगाये रखते… हमेशा दूसरों की चाहत का ख़याल रखते हैं…

मेरी छुअन ने आग में घी का काम किया और जैसे ही मेरी उँगलियों ने वंदना की चूचियों की घाटी में प्रवेश किया उसने मेरे होठों को जोर से चूसना शुरू किया… मेरी उँगलियाँ अब उसके कुरते के ऊपर से ही उसकी चूचियों की गोलाइयों का जायजा लेने लगीं और मैंने धीरे से अपनी पूरी हथेली को उसकी बाईं चूची पे रख दिया…

अरे तू क्यों चिंता करती है ललिता जान? नहीं लगेंगे, दुनिया में तू पहला ... पहली नहीं है जिसने लंड चूसा है. मुझे आदत है, लीना तो क्या क्या करती है इसके साथ चूसते वक्त!दहावी सराव प्रश्नपत्रिका हिंदी

ममता- अरे तुमने जब देखा था तब तो वह कुँवारी थी अब शादी के बाद उसका बदन पूरा भर गया होगा और पूरी औरत बन चुकी होगी अपनी बेटी का भरा हुआ मसल नंगा बदन देख कर तुम्हारा मस्त लंड पागल हो जाएगा, सुधिया- सीईईईईईईईईई आह, हाँ बाबाजी मन तो कर रहा था कि जाकर उसके मोटे लंड से अपनी चूत मरवा लू लेकिन मेरे

अपने लंड को निकाल लो..ऊऊव्ववववववव..!,बहुत इसरार के बाद उसने परेश के अंग का नाम लिया.इस बात ने आग मे घी का काम किया & परेश के धक्के और तेज़ हो गये.

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------,कांटे वाला कंडोम मुझे चुदाई बहुत पसंद है..इसके बिना जी नही सकती मैं मगर इसका मतलब ये नही है की मैं कोई बाज़ारु औरत..कोई वेश्या हू!

News