जंगल में मंगल सेक्स

भारतातील सर्वात उंच शिखर

भारतातील सर्वात उंच शिखर, उन्होंने कहा- तुम अभी भी पुराने वाले पहन रही हो, तो सोचा नया खरीद दूँ, मुझे लगा कि तुम इस टाइप के ब्रा और पैंटी में और भी सुन्दर और सेक्सी लगोगी और सच बताऊँ तो तुम इतनी सुन्दर और सेक्सी लग रही थी कि अगर कोई तुम्हें देख लेता ऐसे तो, बलात्कार कर देता तुम्हारा…! मैंने उसे फिर से धकेलना शुरू कर दिया। यह देखते हुए उसे मेरे हाथों को अपने हाथों से पकड़ कर बिस्तर पर दोनों तरफ फैला कर दबा दिया और धक्के लगाने लगा।

मेनका ने अपने ससुर की शर्ट के उपर के 2 बटन खोल दिए & उसकी उंगलियाँ उनके सीने के बालों से खेलने लगी.उनके सीने को सहलाते हुए उसने अपने नाखूनों से राजा साहब के निपल्स को छेड़ना शुरू कर दिया.,क्या कर रही हो?अगर हुमारा ध्यान इधर-उधर हुआ तो कही आक्सिडेंट ना हो जाए. मा, ठाकुर साहब की बेटी निक्की जी आई हैं कल्लू जब तक अपनी मा को उत्तर देता निक्की अंदर दाखिल हो चुकी थी.

आज शाम को जब सुगना के घर से लौटने के बाद नौकर ने उन्हे ये बताया कि कंचन अब हवेली नही लौटना चाहती, तभी से उनका मन दुखी हो उठा था. भारतातील सर्वात उंच शिखर उसी रात पति को भी सम्भोग की इच्छा हुई। पर राहत की बात मेरे लिए ये थी कि वो ज्यादा देर सम्भोग नहीं कर पाते थे, सो 10 मिनट के अन्दर सब कुछ करके सो गए।

हिंदी बीएफ जबरदस्ती

  1. यह सुनते ही उसने मेरी तरफ़ देखा उसकी नज़रों में थोड़ा आश्चर्य था, उसने कहा, तुम बहुत बदमाश हो ! अच्छा हुआ कि यहाँ तुम्हारी बीवी नहीं है और उसने यह सुना नही ! अगर वो यह सुन लेती तो मुझसे बात करना बंद कर देती और मुझे ग़लत समझती !
  2. रवि की आवाज़ जैसे ही उसके कानो से टकराई, वो चौंकते हुए पलटी. उसके चेहरे पर गहरे दुख की परत चढ़ि हुई थी, आँखे इस क़दर लाल थी मानो वो रात भर सोई ही ना हो. रवि आश्चर्य से उसके चेहरे को देखता रहा. தமிழ் மலையாளம் செஸ்
  3. विनय के लंड के सुपाडे रिंकी अपनी चूत की दीवारो पर महसूस करके एक दम मस्त हो गयी….और अपनी आँखें बंद किए हुए अपनी पहली चुदाई का मज़ा लेने लगी…अह्ह्ह्ह विनय हइई मेरी फुद्दि आह मार और ज़ोर से मार आह फाड़ दे अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह सुनते ही जब्बार ने छाती मसलना छ्चोड़ उसके लंबे बालों को घोड़ी की लगाम की तरह पकड़ कर खीच दिया..मालिका का चेहरा उपर को हो गया & उसपे दर्द की रेखाएँ दिखने लगी पर मलिका अब पूरी तरह से गरम हो गयी थी,चूओत...मे....उन..ग्ली ..कर...नाआ!
  4. भारतातील सर्वात उंच शिखर...निक्की उसे आवाज़ देती रह गयी. मंगलू के जाने के बाद निक्की ने कंचन की तरफ देखा और मुस्कुराइ. उसकी मुस्कुराहट में शरारत थी. एक दिन रंगीला ने घर आकर रेखा को बताया कि उसका एक बचपन का दोस्त जय यहाँ एक इंश्योरेंस कंपनी में ब्रांच हेड बन कर आया है और वो आज उसकी फैक्ट्री आया था।
  5. ये सोचते ही उसके बदन में अजीब सी झुरजूरी दौड़ गयी……वो डरते हुए पर दिल के हाथो मजबूर होकर उठा और ममता के रूम में चला गया…. थोड़ी देर के सम्भोग के बाद हम दोनों ही पूरी ताकत से धक्के लगाने लगे, फिर कुछ जोरदार झटके लेते हुए वो शांत हो गए।

भाभी देवर का प्यार

मैंने पति से बात भी की कि अगर बच्चा चाहिए तो जल्दी करना होगा क्योंकि ये उमर बच्चे पैदा करने के हिसाब से स्त्री के लिए खतरनाक होता है।

किरण अब झड़ने के करीब पहुँच चुकी थी…उसने भी अपनी गान्ड को ऊपेर की और उछालना शुरू कर दिया…आह ले पुत्तररर अहह ले मेरी फुदी अह्ह्ह्ह आ लीईए मेरीई फुद्दि का काअमम हो गायाअ आह सीईईईई उंह पुउतर्र चूमा दे नाअ…. काफी देर के ‘फ्रेंच-किस’ के बाद वो अब मेरे गालों, गले, सीने को चूमते और चूसते हुए नीचे मेरी योनि के पास आ गया। उसने मेरी नाईट-ड्रेस को ऊपर किया और मेरी पैन्टी को नीचे सरका दिया। फिर एक प्यारा सा चुम्बन धर दिया।

भारतातील सर्वात उंच शिखर,मुझे बहुत मजा आ रहा था, पर मैं अब उसे अपने योनि में चाहती थी, मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ कर अपनी ओर खींचा और अपनी जाँघों से उसे जकड़ लिया।

खानसमा साहब,हमे पिताजी की पसंद-नापसंद के बारे मे तफ़सील से बताएँ & साथ-साथ ये भी कि मेडिकल रीज़न्स की वजह से तो उन्हे कोई परहेज़ तो नही करना पड़ता.

आ......आप मेरे पति को कैसे जानते हैं? कमला जी हकलाते हुए बोली - कहाँ हैं वो? मुझे बताइए दीवान जी.....मैं आपके आगे हाथ जोड़ती हूँ.பாபா தமிழ் திரைப்படம்

हालांकि मुझे चुदवाए हुए काफ़ी दिन हो चले थे, मेरे अन्दर भी चुदने की इच्छा थी पर मैं तब भी अपनी पूरी ताकत से उनका विरोध कर रही थी, ऐसे कैसे किसी गैर मर्द से एकदम बिना किसी विरोध के चुदवा लेती? क्या जादू था जय में… रेखा को तो शब्द ही नहीं मिल रहे थे, फिर वो संभल कर बोली- बैठिये भाई साहब… बताईये क्या लेंगे… हार्ड ड्रिंक या सॉफ्ट?

राधा जी की चीखें सुनकर ठाकुर साहब का सारा नशा दूर हो चुका था. वो किसी जुनूनी इंसान की तरह पूरी ताक़त से दरवाज़े पर लात मारने लगे. दरवाज़ा गरम था. स्पस्ट था दरवाज़े पर अंदर से आग पकड़ चुकी थी.

मुझे आई देख कर वे लोग भी.. जो बिस्तर पर सम्भोग कर रहे थे.. वो भी अलग हो गए और सब लोग बैठ कर मेरी ओर देखने लगे।,भारतातील सर्वात उंच शिखर मुझे पता नही में क्यों इतनी मदहोश हो गयी कि, मेने गले में बाहें डाल कर अपने से चिपका लियाओह्ह्ह अमित मेने मस्ती भरी आवाज़ में कहा…..अमित ने मेरी चुचि को मूह से निकाला और फिर मेरी तरफ देखते हुए, अपने होंटो को मेरे होंटो के तरफ बढ़ाना शुरू कर दिया…..

News